Pradhan Mantri Fasal Bima Yojana 2021 » PMFBY Crop Insurance Scheme

By Admin27 October 2021 514 Views

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना 2021: किसानो के लिए सरकार ने जो योजना शुरू की है उनमे से एक है प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना।  इस योजना के माध्यम से किसानो को हर प्रकार की सहायता की जाएगी। इस योजना में फसल से जुड़ी वह सारी जानकारी आपको यहाँ दी जाएगी। जैसे कि इसके क्या लाभ है, क्या उदेश्य है, इसके लिए कौन-कौन से कागज चाहिए होंगे, प्रधानमंत्री योजना क्या है। तो मेरे किसान भाइयो तथा खेती से तालुकात रखने वालो के लिए ये लेख बहुत फायदेमंद होगा। तो आपको इस लेख को बहुत ध्यान से पढ़ना होगा ।

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना 2021

किसान भाइयो को अगर किसी तरह की आपदा का सामना करना पड़ता है या किसानो की फसल को कोई नुकसान पहुंचा है तो उनको इस बीमा योजना का लाभ दिया जायेगा। इस योजना को भारत कृषि बीमा कंपनी की ओर से लागु किया जायेगा। प्रधानमंत्री फसल योजना में यदि किसान को ऊपर कोई आपदा आती है जैसे कि बाढ़ आना , वर्षा आने से फसल का ख़राब हो जाना, समय पर बारिश के ना आने से सूखा पड़ जाना, आदि होते है तो किसान को प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना का लाभ मिलता है। इसके आलावा यदि किसी अन्य वजह से फसल को नुक्सान पहुँचता है तो उन किसानो को इस बीमा से कोई धनराशि नहीं दी जाएगी। राज्य और केंद्र कि सरकार के द्वारा 8600 करोड़ रु का बजट निश्चित किया है ।

  • इस बीमा योजना से किसनो को रवि फसल का 2% तथा खरीफ की फसल का 1.5 % कंपनी को भुगतान देना होगा। जिससे आंतरिक किसानो को बीमा का लाभ मिलेगा।
  • अगर आप इस योजना का भागीदर होना चाहते है तो आपको किसान बीमा योजना की सरकारी वेबसाइट पर जा कर आवेदन करना होगा।
  • इस प्रणाली के तहत भिन भिन किसानो को जिनकी सारी फसल बर्बाद हो गई हो उसका पूरा फायदा मिलेगा।
  • इस योजना का फायदा लेने के लिए किसान भाइयो को अपने सारे जरुरी कागजात लेकर अपने पास के बैंक में जाना होगा तथा अपने चावल और गेहू प्रति हेक्टर की बनते पैसो का सालाना डेढ़ से दो परसेंट बीमा क़िस्त किसानो द्वारा जमा करवाया जायेगा जिसके बाद किसानो को इसका फायदा मिलेगा।
  • लखनऊ में लगभग 2 .35 लाख किसान है तथा 177241 किसानो में पहले से ही इस योजना के लाभ प्राप्त किये हुए है 57759 किसानो ले इस योजना में रजिस्ट्रेशन करा चुके है और बाकि के बचे किसानो का रजिस्ट्रेशन होना बाकी है।Pradhan Mantri Fasal Bima Yojana

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना स्कीम 2021

विभाग का नाम मिनिस्ट्री ऑफ एग्रीकल्चर एंड फार्मर्स वेलफेयर
योजना का नाम प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना
ऑनलाइन आवेदन के आरंभ तिथि आरंभ है
ऑनलाइन आवेदन की अंतिम तिथि 31 जुलाई 2019(खरीफ फसल के लिए)
लाभार्थी देश के किसान
उद्देश्य देश के किसानों को सशक्त बनाना
सहायता राशि रूपये 200000 तक का बीमा
आधिकारिक वेबसाइट https://pmfby.gov.in
योजना का प्रकार केंद्र सरकार की योजना

फस बीमा योजना को 31 जुलाई 2021 से पहले करे रजिस्ट्रेशन

  • इस योजना में यदि किसनो को किसी आपदा के कारण नुकसान होने पर बीमा दिया जाता है। इस प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना को विभाग के अनुभवी अधिकारी संभालते है और शिद्धत से काम करते है।
  • बीमा योजना में बीमा कंपनी ने गांव लगते जिलों तथा ब्लॉक में अपने कर्मचारी रखे है जो किसानो की बीमा करवाने में मदद करते है और योजना की सारी जानकारी देते है। इस योजना में यदि किसनो को किसी प्रकार की कोई दिक्कत आती है या किसान शिकायत करना चाहते है तो उनके लिए सरकार ने टोल फ्री नंबर का भी प्रबन्ध किया है।
  • इस योजना के अंदर हरियाणा में साल 2021 में बाजरा, मक्का,गेहू, चन्ना, जौ, सरसो तथा सूरजमुखी की फसलों का बीमा किया जायेगा । यदि किसान इसका फायदा लेना चाहते है तो 31 जुलाई 2021 से पहले किसानो को बीमा फ्रॉम भरना होगा।
  • प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना देश भर के सभी किसानो के लिए बहुत फ़ायदेमंद योजना है।
  • किसान यदि इस योजना का फायदा नहीं लेना चाहते तो उन किसानो को इसकी लिखित जानकारी अपने बैंक अधिकारी को 24 जुलाई 2021 से पहले पहले देनी होगी।
  • जो किसान इस योजना में का लाभ नहीं लेना कहते है उन किसान भाइयो को इस योजना से बहार निकाल दिया जायेगा।
  • जो किसान इस योजना लाभ नहीं लेना कहते है और किसान निर्धारित समय में बैंक को कोई जानकारी नहीं दे पता है तो बैंक अपने आप इस योजना में किसान का रजिस्ट्रेशन कर देगा।
  • अगर किसी किसान ने अपनी फसल में कोई बदलाव किया है तो उस किसान को इसकी जानकारी अपने बैंक में 29-07-2021 से पहले देनी होगी।
  • इक योजना की जानकारी लेना चाहते गई तो विभाग के द्वारा हेल्पलाइन नंबर पर फ़ोन कर सकते है।
  • सरकार ने किसानो के लिए एक हेल्पलाइन जारी किया है जो की 18001802117 है।
  • यदि आप कॉल सेंटर से मिली जानकारी से संतुस्ट नहीं है तो आप सीधा बैंक अधिकारियो से संपर्क करे या बीमा अधिकारी से इसकी पूरी जानकारी ले।

प्रधानमंत्री फसल बीमा क़िस्त कुछ इस प्रकार है

फसल बीमा क़िस्त
मक्का 356.99 रुपए प्रति एकड़
कपास 1732.50 रुपए प्रति एकड़
चना 204.75 रुपए प्रति एकड़
सरसो 275.63 रुपए प्रति एकड़
सूरजमुखी 267.75 रुपए प्रति एकड़
जौ 267.75 रुपए प्रति एकड़
गेहूं 409.50 रुपए प्रति एकड़
धान 713.99 रुपए प्रति एकड़
बाजरा 335.99 रुपए प्रति एकड़

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना में दी जाने वाली राशि

फसल बीमा क़िस्त
मक्का 17849.89 रुपया प्रति एकड़
कपास 34650.02 रुपया प्रति एकड़
चना 13650.06 रुपया प्रति एकड़
सरसो 18375.17 रुपया प्रति एकड़
सूरजमुखी 17849.89 रुपया प्रति एकड़
जौ 17849.89 रुपया प्रति एकड़
गेहूं 27300.12 रुपया प्रति एकड़
धान 35699.78 रुपया प्रति एकड़
बाजरा 16799.33 रुपया प्रति एकड़

52 लाख किसानो को मिली प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना से दावे की रकम

किसानो को फसल बीमा योजना के क्लेम का भुगतान सन 2018 -2019  में 52 .41 .268 मिला। बीमा योजना में साल भर में लगभग 5.5 करोड़ किसान योजना में रजिस्ट्रेशन करते है। इस योजना में सरकार के द्वारा किसानो के बैंक अकाउंट में 90000 करोड़ रु का भुगतान किया जा चुका है । ये धनराशि किसानो के खातों में विभाग से सीधे किसानो के बैंक खातों में जाती है। किसान यदि इस योजना में अपनी फसल का फायदा लेना चाहते है तो आपको प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना में रजिस्ट्रेशन करना होगा। रजिस्ट्रशन के लिए सरकार हर अख़बार में तथा बैंक में फॉर्म के द्वारा और ऑनलाइन अप्लाई करने का इश्तेहार दे रही है। जो किसान फसल बीमा में आवेदन करना चाहता है वो देरी न करते हुए इसको अप्लाई करे।

PMFBY में अब तक किया जा चुका रु 9000 करोड़ का भुगतान

  • प्राकर्तिक आपदा से होने वाली फसल की बर्बादी पर प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना द्वारा किसानो की आर्थिक मदद सरकार करती है। इस योजना की शुरुवात 13 -01 -2016  को की गई थी। तेज बारिश,आंधी, तूफान, या बाढ़ आने पर प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना किसानो के हुए नुकसान पर उनकी सहायता करती है। भारतीय कृषि बीमा कंपनी के माध्यम से इस योजना को चलाया जाता है।
  • इस योजना में आवेदन करने के लिए पुरे देशभर से 5.5 करोड़ आवेदन आते है। जिसमे अभी तक 90,000 करोड़ रूपये किसानो को भुगतान किया जा चुका है। यह दवा आधार सीडिंग की मदद से निपटारा किया जा सकता है। महामारी के कारण प्रधानमंत्री फसल बिमा योजना में माध्यम से 7000000 किसानों को 30 करोड़ रु दिए गए।

 प्रधामंत्री फसल बीमा योजना की महत्वपूर्ण जानकारियां

  • इस योजना का मुख्या लाभ है कि किसानो को नुकसान होने से बचाना है।
  • इसमें किसी आपदा के कारण यदि किसानो की फसल की बर्बादी होने से बचाने के लिए इस योजना की शुरुवात की गई है।
  • प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के अंतर्गत लगभग सभी किसानो को इस योजना का फायदा हुआ है।
  • इस योजना में किसानो ने 13000 करोड़ रु का प्रीमियम जमा किया गया है।
  • किसानो को इंश्योरेंस का इस योजना के तहत 60000 करोड़ का कलेम मिला है।
  • सरकार के द्वारा सभी किसानो को इस योजना के लाभ देने की कोशिश की जा रही है।
  • सरकार के माध्यम से इस योजना के ज्यादा से ज्यादा विज्ञापन दिए जा रहे है।
  • इस योजना को लगभग 27 राज्य तथा केंद्र के अधीन प्रदेशो में चलाया जाता है।
  • इस योजना की कलेम रेश्यो 3 परसेंट  है।
  • सरकार समय समय पर इस योजना का रिव्यु करती है और लाभार्थी से बातचीत की जाती है।
  • फरवरी 2021 में इस योजना के अंदर कुछ बदलाव किये गए है। जिसे सभी किसानो की सुविधाएं और बेहतर की जा सके।
  • जिन किसानो की सब्सिडी कई वर्षो से बंद है उनको इस योजना से कोई लाभ नहीं मिलेगा।
  • इस योजना में बीमा क़िस्त की 0.5 %  मिली हुई रकम में से इंफॉर्मेशन, एजुकेशन एंड कम्युनिकेशन एक्टिविटी के लिए खर्च की जाती है।
  • इस योजना की निगरानी रखने के लिए सरकार ने एक एडवाइजरी कमेटी का गठन भी किया है।
  • प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना में लाभ प्राप्त करने के लिए किसानो के पास आधार नंबर होना आवश्यक है।

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना में दिसंबर के महीने में क्या अपडेट हुआ

  • इस योजना के अंदर पहले प्राकर्तिक आपदा से होने वाले नुकसान पर इंश्योरेंस कवर दिया जाता है परन्तु अब सरकार ने इस योजना में बदलाव लेकर आई है यदि अब खेतो में जंगली जानवर फसल को नुकसान पहुंचते है तो बीमा कंपनी इसका इंश्योरेंस कवर किसानो को देगी।
  • यदि किसी कारणवश जंगली जानवर किसानो का नुकसान करते और किसान इस बीमा का लाभ लेना चाहते है तो किसानो को बीमे की क़िस्त अदा करनी होगी। राज्य की सरकार इस पर सब्सिडी देने का विचार कर रही है।

नवंबर के महीने में सरकार द्वारा प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना की अपडेट

  • प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना किसानों के लिए बनाई गई है इस योजना के अंतर्गत किसानों की फसल को आपदा के कारण होने वाले नुकसान से बचाने के लिए यह योजना को बनाया गया है। आप सभी जानते हैं इस समय देश में कहीं ना कहीं भारी मात्रा में बरसात हो रही है या फिर कहीं सूखा पड़ रहा है। इस वजह से किसानों की फसल में भारी मात्रा का नुकसान पहुंच रहा है।
  • अगर किसी किसान का इस आपदा से सामना हुआ है तो वह किसान 72 घंटे के भीतर कृषि विभाग में जाकर अपनी शिकायत दर्ज करा सकते है या फिर हेल्पलाइन नंबर पर संपर्क कर सकता है और अपनी शिकायत दे सकता है।
  • सरकार ने किसानों के लिए एक एप्लीकेशन पोर्टल बनाया है जिसके द्वारा वह अपनी शिकायत दर्ज करा सकते हैं। इस योजना की यदि आप जानकारी चाहते हैं तो दिए गए नंबर 18001801551 पर संपर्क करें और जानकारी हासिल करें।

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना 2021- फसल और प्रीमियम

क्र00 फसल किसान द्वारा भुगतानी बीमा राशि का प्रतिशत
1 रबी 1.5%
2 खरीफ 2.0%
3 वार्षिक वाणिज्यिक एवं बागवानी फसले 5%

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के अधीन प्रीमियम की राशि

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना में आप सभी जानते हैं किसानों को हुए नुकसान की भरपाई करने के लिए प्रीमियम राशि देनी होती है। यह राशि बाकी फसल बीमा योजनाओं के मुकाबले बहुत ही कम रखी गई है। प्रीमियम रेट कुछ इस तरह है।

  • रबी फसल के लिए – 5% of the sum assured
  • खरीफ फसल के लिए – 5% of the sum assured
  • वार्षिक वाणिज्यिक और औद्यानिकी फसलों के लिए – 5% of the sum assured

Pradhan Mantri Fasal Bima Yojana Movement Calendar

क्र00 चालचलन कैलेंडर रबी खरीफ
1 उपज डेेटा प्राप्त करने के लिये कट आफ तारीख अतिंम फसल के एक महीने के भीतर अतिंम फसल के एक महीने के भीतर
2 किसानों के प्रस्तावों की प्राप्ति के लिए कट ऑफ़ तारीख 31 जुलाई 31 दिसम्बर (ऋणदाता और गैर-ऋणदाता)।
3 अनिवार्य आधार पर लोनी किसानों के लिए स्वीकृत ऋण। अक्टूबर से दिसम्बर तक अप्रैल से जुलाई तक

संशोधित प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना

क्र00 प्रकार वर्ष 2016 के लिये वर्ष 2019 के लिये
1 शतप्रतिशत नुकसान की दशा मे किसान को प्राप्त धन राशि रू 15000 रू 30000
2 किसान द्वारा देय प्रीमियम धनराशि रू 900 रू 600

 फसल बीमा योजना में अब तक भुगतान किया गया प्रीमियम

इस योजना में पिछले 3 साल में 13000 करोड़ रुपए का प्रीमियम भुगतान हुआ है परंतु जब सूखा पड़ा जागृति यात्रा आई तो यकरीब 64000 करो रुपए नुकसान भरपाई के रूप में दिया गया। सूत्रों के अनुसार प्रीमियम की हिस्सेदारी में कोई परिवर्तन नहीं हुआ है। यह रबी फसल के लिए 1.5%, खरीफ फसल के लिए 2% तथा व्यवसायिक तथा बागवानी फसलों के लिए ज्यादा से ज्यादा 5% है। महामारी के दौर में इस योजना के तहत 8,090 मुआवजे के दावों जमा किये गए है।

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के फायदे

  • इस योजना के अंदर किसानों की फसल के नुकसान होने पर बीमा दिया जाएगा।
  • अगर किसानों की फसल प्राकृतिक आपदा के कारण खराब हुई है तो उसे इस योजना का फायदा मिलेगा।
  • यदि किसान की फसल किसी मजदूर या खुद किसान से खराब होती है या नष्ट होती है तो इस योजना का फायदा नहीं मिलेगा।
  • यदि प्राकृतिक आपदा किसानों की फसल का नुकसान करती है या सूखा पड़ जाता है और ओले पड़ जाने के कारण फसल का नुकसान होता है तो सरकार की तरफ से मदद की जाती है।

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना की योग्यता

  • इस योजना के अंदर देश के सभी किसान योग्य हैं।
  • इस योजना के माध्यम से आप खुद की जमीन पर की गई खेती का बीमा करवा सकते हैं या ठेके पर ली गई जमीन पर खेती का बीमा भी करवा सकते हैं।
  • जिस किसान ने किसी अन्य योजना का लाभ नहीं ले रखा है तो उस किसान को इस फसल बीमा योजना का फायदा मिलेगा।

इन्हे भी पढ़े:

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना में जरूरी दस्तावेज़

  • राशन कार्ड,
  • आधार कार्ड,
  • बैंक खाता की कॉपी,
  • ड्राइविंग लाइसेंस,
  • पासपोर्ट,
  • वोटर कार्ड आईडी,
  • यदि के किराए पर लिया है तो खेत के मालिक की मंजूरी की दस्तावेज की कॉपी
  • खसरा नंबर के पेपर,
  • खेत का खाता नंबर,
  • आवेदक की लेटेस्ट फोटो,
  • किसान द्वारा फसल की वुआई शुरू किए हुए दिन के दिनांक

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना में अप्लाई करने के लिए कुछ जरूरी तारीखें

  • यदि आप प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के माध्यम से अप्लाई करना चाहते हैं तो रबी की फसल के लिए आखिरी तारीख 31 दिसंबर है, खरीफ फसल के लिए आखिरी तारीख 31 जुलाई है।
  • इस योजना की आखिरी तारीख सीएससी केंद्र, इंश्योरेंस या फिर कृषि विभाग अधिकारियों से ली जा सकती है।
  • इस योजना की आखरी तारीख प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना ऑनलाइन पोर्टल पर भी उपलब्ध है।

2021 की प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना मे ऑनलाइन आवेदन

  • प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना ऑनलाइन भरने के लिए इस ऑफिशियल वेबसाइट पर क्लिक करना होगा। जिसका लिंक आपको यह दिया जा रहा है
  • इस योजना में आवेदन करने के लिए आपको वेबसाइट पर अपना यूजर आईडी और पासवर्ड बनाना होगा।
  • अपना अकाउंट रजिस्टर करने के लिए रजिस्ट्रेशन पर क्लिक करना होगा उसके बाद पूछी गई जानकारी सही ढंग से भरना होगा और सबमिट कर देना होगा।
  • उसके बाद आपका अकाउंट बन जायेगा और अकाउंट को खोलकर उसमे दिए गए फॉर्म को भरना होगा ।
  • इसके बाद प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के फॉर्म भरने के बाद आपको सबमिट बटन पर क्लिक करने पर एप्लीकेशन सक्सेसफुल का मैसेज आएगा।

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना पर ऑफलाइन अप्लाई करने की प्रक्रिया

अगर आप इस योजना को ऑफलाइन भरना चाहते है तो कुछ नियमित प्रक्रिया के अनुसार भरना होना।

  • सबसे पहले आपको अपने पास के सेवा केंद्र या बीमा कंपनी में जाना होगा।
  • आपको कृषि विभाग जाकर अपना फसल बीमा योजना का पत्र लेना होगा।
  • आवेदक को फॉर्म में पूछी गई सारी जानकारी ध्यानपूर्वक भरनी होगी।
  • सभी जरूरी कागज फार्म के साथ लगाने होंगे।
  • यह फार्म आपको कृषि विभाग अधिकारी को जमा कराने होंगे।
  • फॉर्म जमा करने के बाद प्रीमियम फीस का भुगतान करना पड़ेगा।
  • फीस जमा कराने के पश्चात आपको एक रेफरेंस नंबर दिया जाएगा।
  • रेफरेंस नंबर की सहायता से आप अपने आवेदन की स्थिति को देख सकते हैं।
  • ध्यान रहे यह रेफरेंस नंबर गुम नहीं होना चाहिए (कहि पर इसको लिख कर रख ले)।
  • यह रेफरेंस नंबर खो जाने के पश्चात आपके आवेदन की स्थिति का पता नहीं लग पाएगा।

सरकारी पोर्टल पर साइन इन करने की प्रक्रिया कुछ इस प्रकार है

  • सबसे पहले आपको प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना की सरकारी वेबसाइट पर जाना होगा ।
  • सरकारी वेबसाइट खुलने के बाद आपको होमपेज दिखाई देगा
  • होम पेज के दाहिने तरफ आपको साइन इन का बटन दिखाई देगा जिसे आप क्लिक करेंगे
  • आवेदक के सामने है नया पेज खुल कर आएगा जिसमें आवेदक को मोबाइल नंबर पासवर्ड भरना होगा।
  • इसके बाद ठीक पासवर्ड के नीचे कैप्चा कोड दिखाई देगा जिसे आवेदक को भर के लॉगइन के बटन पर क्लिक करना होगा।
  • इस तरह सरकारी पोर्टल पर लॉगइन कर पाएंगे।

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना का फायदा लेने के लिए प्रक्रिया कुछ इस प्रकार है

यदि किसान की फसल को बारिश, भूकंप या फिर तूफान की वजह से कुछ नुकसान पहुंचता है और आपने प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना का लाभ लिया हुआ है तो आप नीचे दी गई प्रक्रिया के माध्यम से इस योजना का फायदा प्राप्त करते हैं।

  • सबसे पहले आपको कृषि विभाग अधिकारी के पास या इंश्योरेंस कंपनी के अधिकारी के पास जाना होगा।
  • इस योजना में यदि आप की फसल को नुकसान पहुंचता है तो आपको 72 घंटे के भीतर नुकसान की जानकारी इंश्योरेंस कंपनी के अधिकारी कृषि विभाग के अधिकारी को देनी होगी।
  • आवेदक को इस नुकसान की तारीख और समय दोनों की जानकारी इंश्योरेंस अधिकारी या कृषि अधिकारी को देनी होगी।
  • आवेदक इंश्योरेंस एप्लीकेशन के जरिए भी इस प्रक्रिया को पूरा कर सकता है।
  • अधिक जानकारी के लिए आप फसल बीमा योजना के कॉल सेंटर पर संपर्क करके जानकारी ले सकते हैं।
  • प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना का हेल्पलाइन नंबर है 18001801551.

आवेदक अपनी फसल बीमा योजना की स्थिति कैसे देख सकते हैं

  • आवेदक सबसे पहले प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना की वेबसाइट के होम पेज जाएंगे।
  • इसके पश्चात होम पेज पर एप्लीकेशन स्टेटस पर क्लिक करेंगे।
  • एप्लीकेशन स्टेटस क्लिक करने के बाद आप दूसरे को इस पर जाएंगे।
  • इस पेज पर आपको चेक स्टेटस दिखाई देगा जिसने आपको रेफरेंस नंबर भरना होगा।
  • जैसे ही आप ब्लैक लिस्ट नंबर भरेंगे तो ठीक नीचे कैप्चा कोड दिखाई देगा।
  • इस कैप्चा कोड को भरने के बाद सर्च स्टेटस पर क्लिक करना होगा।
  • सर्च स्टेटस क्लिक करने के बाद आवेदक की सारी स्थिति का ब्यौरा सामने खुल जाएगा ।
  • जिस से आवेदक अपने आवेदन की स्थिति जान पायेगा।

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना एप्लीकेशन को डाउनलोड करने की प्रक्रिया

  • सरकार ने किसानों के लिए एक एंड्रॉइड ऐप लॉन्च की है।
  • यह ऐप प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के लिए है।
  • यह एप्लीकेशन गूगल प्ले स्टोर में उपलब्ध है।
  • इस ऐप को आप सरकारी वेबसाइट पर जाकर भी लिंक के द्वारा डाउनलोड कर सकते हैं।
  • इस ऐप के माध्यम से ऑनलाइन आवेदन भी कर सकते हैं।
  • इस एप्लीकेशन से अपनी एप्लीकेशन का स्टेटस भी देख सकते हैं।
  • इस एप्लीकेशन में प्रीमियम किस्त को कैलकुलेट भी कर सकते हैं।
  • प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना ऐप लॉन्च करने का मुख्य उद्देश्य किसानों को उनकी बीमा राशि बताना है।
  • इस एप्लीकेशन किसानों का डाटा सुरक्षित रहता है।

प्रधानमंत्री बीमा योजना की लाभार्थी सूची

 वेबसाइट के माध्यम से: आप दो प्रकार से लाभार्थी सूचि का अवलोकन कर सकते है पहला वेबसाइट के माध्यम से दूसरा बैंक के माध्यम से, आवेदक को सबसे पहले सरकारी वेबसाइट पर जाना होगा।

  • वेबसाइट पर आपको एक लिंक दिखाई देगा जिससे आप लिख कर के लाभार्थी सूची देख पाएंगे।
  • इस लिंक में आपको अपने राज्य पर क्लिक करता हुआ तथा उसे सेलेक्ट करना होगा।
  • राज्य सिलेक्ट करने के पश्चात आपको जिले का तथा ब्लॉक का चयन करना पड़ेगा।
  • जैसे ही यह प्रक्रिया आप करेंगे तो आप अपना नाम इस लिस्ट में देख पाएंगे।

बैंक के द्वारा:

  • सबसे पहले आपको आज के बैंक में जाना होगा।
  • इसके पश्चात आपको फसल बीमा अधिकारी को अपना एप्लीकेशन नंबर देना होगा।
  • आवेदक को बैंक अधिकारी द्वारा मांगे गए जरूरी कागजात।
  • बैंक अधिकारी आपको एप्लीकेशन से संबंधित जानकारी प्रदान करेगा।
  • इस तरह आप अपना नाम लाभार्थी सूची में देख पाएंगे।

इंश्योरेंस का प्रीमियम कैसे कैलकुलेट करें

  • आवेदक को फसल बीमा योजना की सरकारी वेबसाइट पर जाकर इंश्योरेंस कैलकुलेटर पर क्लिक करना होगा।
  • अगले पेज पर पूछी गई कुछ जानकारी आवेदक के द्वारा भरनी होगी जैसे कि फसल का चयन,स्कीम,साल, डिस्टिक, स्टेट आदि।
  • जैसे ही आप की जानकारी आपके द्वारा भर्ती जाएगी तो आपको केलकुलेटर बटन पर क्लिक करना होगा उसके पश्चात आपकी कैलकुलेट राशि आपको दिखाई देगी।

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के हेल्पलाइन नंबर

  • इस योजना के माध्यम से देश के किसानों के लिए सरकार ने कुछ नंबर जारी किए हैं जिन्हें हेल्पलाइन नंबर का नाम दिया गया है।
  • यदि किसी किसान को इस योजना के संबंधित कोई परेशानी आती है तो वह इस हेल्पलाइन नंबर पर फोन करके अपनी परेशानी का समाधान प्राप्त कर सकता है तथा फसल बीमा योजना से जुड़ी अधिक जानकारी ले सकता है।
  • प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना से जुड़ी जानकारी लेने के लिए संपर्क करें: हेल्पलाइन नंबर- 01123381092 , 01123382012

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के महत्बपूर्ण लिंक 

Official Website  Registration Premium Calculator Check Application Status

Spread the love

Leave a Comment

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!
Scroll to Top