एलआईसी कन्यादान पॉलिसी 2021 ( LIC Kanyadan) पंजीकरण फॉर्म, पात्रता व लाभ

By Admin27 October 2021 641 Views

LIC कन्यादान पॉलिसी 2021: यह योजना माता-पिता के लिए अपनी बेटियों को बीमा का उपहार देने के लिए है। इस योजना का मुख्य उद्देश्य बेटी की शिक्षा और शादी के लिए भी धन उपलब्ध कराना है। हम आसानी से कह सकते हैं कि यह योजना बेटियों के भविष्य की आर्थिक मदद के लिए है।एलआईसी द्वारा शुरू की गई इस योजना के बारे में अधिक जानने के लिए आपको यह पूरा लेख पढ़ना चाहिए।

एलआईसी कन्यादान पॉलिसी की विशेषताएँ

इस योजना के अन्तर्गत कोई भी व्यक्ति अपनी बेटी की शादी के लिए निवेश कर सकता है। बशर्ते उसकी उम्र 18 से 50 वर्ष के बीच हो । यह पॉलिसी आपकी बेटी की शिक्षा और शादी के आपके सपने को साकार करती है । इस पॉलिसी को लेने के बाद यदि उस व्यक्ति की मृत्यु हो जाती है तो पॉलिसी के प्रीमियम का भुगतान उसके परिवार को नहीं करना होगा। अगर कोई अनहोनी हुई तो आपकी बेटी 10 लाख रुपये पाने की हकदार है।

बीमाधारक की मृत्यु हो जाने की स्थिति में एलआईसी कम्पनी उसके परिवार को हर साल एक लाख रुपए देगी । पॉलिसी की पच्चीस वर्ष की समय अवधि पूरी होने पर नॉमिनी को अलग से सत्ताइस लाख रुपए प्रदान करेगी ।

इस योजना के बारे में अधिक जानकारी

यह पॉलिसी व्यक्ति को पच्चीस वर्ष के लिए मिलती है। प्रीमियम का भुगतान पॉलिसीधारक को बाईस वर्ष तक ही करना होता है । यह जरूरी नहीं है कि पॉलिसी बेटी के एक वर्ष की हो जाने पर लें । आप उसके बाद किसी भी समय ले सकते हैं। पॉलिसीधारक यदि इस पॉलिसी के नियम व शर्तों से संतुष्ट नहीं है तो वह पन्द्रह दिन के भीतर पॉलिसी छोड़ सकता है। इसके लिए उसे पॉलिसी शुरु होने की तारीख से लेकर पन्द्रह दिन तक फ्री लुक पीरियड दिया जाता है। इस योजना के अन्तर्गत यदि पॉलिसीधारक पॉलिसी सरेंडर करने की अनुमति चाहता है तो उसे तीन वर्षों के प्रीमियम भुगतान के बाद ही यह अनुमति प्रदान की जाती है।

एलआईसी योजना को खरीदने की आवश्यकता क्यों है?

अगर कोई अपनी बेटी के भविष्य के लिए बचत करना शुरू कर देता है तो यह लंबे समय में माता-पिता के लिए वास्तव में मददगार होगा। इसलिए, यह योजना एलआईसी द्वारा माता-पिता को अपनी बेटी के भविष्य के लिए पैसे बचाने में मदद करने के लिए शुरू की गई है। पैसे बचाकर माता-पिता अपनी बच्ची का भविष्य सुरक्षित कर सकते हैं। दुर्भाग्य से, अगर माता-पिता की किसी दुर्घटना से मृत्यु हो जाती है, तो यह योजना उनकी बेटियों की मदद करेगी।

यह योजना एलआईसी की अन्य योजनाओं से अलग है। जिन लोगों को इस योजना के बारे में जानकारी है, वे म्यूचुअल फंड खरीदने के बजाय इस योजना को खरीद रहे हैं। इसलिए, जो कोई भी पैसा बचाना चाहता है और अपनी बेटी के भविष्य को सुरक्षित करना चाहता है, उसे एलआईसी की इस योजना में पैसे बचाना शुरू कर देना चाहिए।

जरूरी तथ्य –

इस योजना से जुड़े कुछ जरूरी तथ्य इस प्रकार है

  • इस पॉलिसी को केवल बेटी के पिता द्वारा ही लिया जा सकता है ।
  • अठारह से पचास वर्ष के बीच की आयु वाला व्यक्ति ही इस योजना का लाभ उठा सकता है ।
  • इस पॉलिसी को लेने वाले व्यक्ति की बेटी की आयु कम से कम एक वर्ष होनी चाहिए।
  • एलआईसी कन्यादान पॉलिसी की समय सीमा 13 वर्ष से लेकर 25 वर्ष तक है।
  • पॉलिसी के प्रीमियम भुगतान की अवधि पॉलिसी की समय अवधि से तीन वर्ष कम है।
  • एलआईसी कन्यादान पॉलिसी की परिपक्वता (Maturity) के समय बीमा राशि 100000 रुपए होनी चाहिए। यह पॉलिसी द्वारा कम से कम निर्धारित की गई राशि है।
  • एलआईसी कन्यादान पॉलिसी के तहत यदि बीमा करवाने वाले व्यक्ति की मृत्यु हो जाती है तो परिवार को प्रीमियम का भुगतान नहीं करना होगा |
  • पॉलिसी लेने वाले व्यक्ति की मृत्यु यदि प्राकृतिक कारण से होती है तो एलआईसी कम्पनी 5000०० रुपए प्रदान करेगी।
  • भारत से बाहर रहने वाले भारतीय नागरिक भी एलआईसी कन्यादान पॉलिसी का लाभ उठा सकते हैं।

LIC कन्यादान पॉलिसी – आवश्यक दस्तावेज

  • पहचान पत्र
  • स्थायी पता प्रमाण सहित
  • आधार
  • आय प्रमाण पत्र
  • जन्म प्रमाण-पत्र
  • पासपोर्ट साइज फोटो
  • पहला प्रीमियम भुगतान करने के लिए चेक या कैश
  • सही ढंग से भरा और विधिवत हस्ताक्षरित फॉर्म

बेटी की शादी के अलावा भी मदद

एलआईसी कन्यादान पॉलिसी को 25 साल की जगह 13 साल के लिए भी लिया जा सकता है. इस पैसे का इस्तेमाल शादी के अलावा बेटी की पढ़ाई में भी किया जा सकता है. इसमें आपको इनकम टैक्स अधिनियम 1961 की धारा 80C के तहत भुगतान किए गए प्रीमियम पर टैक्स छूट मिलती है. यह टैक्स छूट अधिकतम 1.50 लाख रुपये तक है.

अपनी बीमा पॉलिसी के लिए आवेदन करें

CLICK HERE TO APPLY

Spread the love

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!
Scroll to Top